Wednesday, 2 August 2017

#2854
गुजरात के 42 कांग्रेसी विधायकों को पनाह देने वाले कर्नाटक के ऊर्जा मंत्री शिव कुमार के 39 ठिकानों पर छापे। क्या यही है राजनीति का चरित्र।
===========
जो लोग राजनीति में हैं उन्हें कर्नाटक के ऊर्जा मंत्री डी.के.शिवकुमार के 39 ठिकानों पर पड़े आयकर के छापों से सबक लेना चाहिए। शिव कुमार ने ही बैंगलूरू के इगलटन रिसोर्ट में गुजरात कांग्रेस के 42 विधायकों को शरण दिलवा रखी है। चूंकि कांग्रेस के विधायकों को गुजरात में डर था, इसलिए कांग्रेस शासित कर्नाटक राज्य में सुरक्षित रखा गया। कांग्रेस को उम्मीद थी कि उनके शासन वाले कर्नाटक में गुजरात के विधायकों को कोई डरा धमका नहीं सकता, लेकिन 2 अगस्त को सुबह से ही ऊर्जा मंत्री शिव कुमार के 39 ठिकानों पर आयकर विभाग ने छापामार कार्यवाही की। जब यह जानकारी मिली कि शिव कुमार इगलटन रिसोर्ट में हैं तो आईटी के अधिकारी केन्द्रीय सुरक्षा बल के जवानों को लेकर रिसोर्ट में पहुंच गए। ताबड़तोड़ हुई इस कार्यवाही से डी.के.शिवकुमार भी घबरा गए। सवाल यह नहीं है कि भाजपा ने आयकर विभाग का दुरुपयोग कर छापामार कार्यवाही करवाई। सवाल यह है कि जो लोग राजनीति में हैं उन्हें क्या स्वच्छ और ईमानदार छवि का नहीं होना चाहिए? आखिर आईटी के छापों से शिव कुमार क्यों घबरा गए? शिवकुमार को कर्नाटक की राजनीति मंे दबंग नेता माना जाता है। वर्ष 1989 से शिव कुमार लगातार विधायक चुने जा रहे हैं। गत बार नामांकन के समय शिवकुमार ने 250 करोड़ रुपए की सम्पत्ति होने की घोषणा की। जाहिर है कि शिवकुमार ने राजनीति में रहकर करोड़ों रुपए कमाए और आज जब छापामार कार्यवाही हुई तो शिव कुमार घबरा गए। कांग्रेस अब भले ही भाजपा पर राजनीतिक द्वेषता आरोप लगाए, लेकिन सवाल यह भी उठता है कि आखिर किसी सरकारी एजेंसी को कार्यवाही करने का अवसर क्यों दिया जाए? जो ऊर्जा मंत्री कल तक गुजरात के विधायकों के पनाहगार बने हुए थे, आज उन्हें ही मदद की दरकार हो गई। हालांकि 2 अगस्त को कांग्रेस ने राज्यसभा में इस मुद्दे पर हंगामा किया, लेकिन कांग्रेस के नेता गुलामनबी आजाद के पास शिव कुमार के बचाव में कोई ठोस सबूत नहीं थे। कांग्रेस सिर्फ टाइमिंग का ही विरोध कर सकी। इससे देश की राजनीति के चरित्र का अंदाजा लगाया जा सकता है। पहले आरोप लगा कि गुजरात में राज्यसभा चुनाव में अहमद पटेल को हराने के लिए भाजपा की ओर से कांग्रेस विधायकों को 15-15 करोड़ रुपए का लालच दिया गया। अब कांग्रेस पर यह आरोप लगा है कि बैंगलूरू के जिस रिसोर्ट में कांग्रेस के विधायक ठहरे हुए हैं, उस रिसोर्ट में ही ऊर्जा मंत्री शिव कुमार विधायकों को प्रलोभन दे रहे थे। राज्यसभा के चुनाव का परिणाम कुछ भी आए, लेकिन इससे देश की राजनीति का चरित्र उजागर हो गया है। 
एस.पी.मित्तल) (02-08-17)
नोट: फोटो मेरी वेबसाइट www.spmittal.in
https://play.google.com/store/apps/details? id=com.spmittal
www.facebook.com/SPMittalblog
Blog:- spmittalblogspot.in
M-09829071511 (सिर्फ संवाद के लिए)
================================
M: 07976-58-5247, 09462-20-0121 (सिर्फ वाट्सअप के लिए)

No comments:

Post a Comment